ALL National World Madhy Pradesh Education / Employment Entertainment Sports Article Business
बीयू -कोच ने लगाया शिकायत करने वाली छात्रा पर ब्लैकमेल का आरोप
March 6, 2020 • Admin • Madhy Pradesh
 
छात्रा एक बार ले चुकी है 30 हजार रूपये दोबारा मांगे 1 लाख
छात्रा की शिकायत के मामले में एनएसयूआई ने की निष्पक्ष जांच की मांग
 
भोपाल। बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के फिजिकल एजुकेशन विभाग की छात्रा द्वारा अपने कोच पर लगाये गए छेड़छाड़ और शोषण के आरोप के मामले में आज एक नया मोड़ सामने आया है। छात्रा द्वारा लगाए गए आरोप में आरोपी स्पोर्ट कोच सुनील शर्मा ने छात्रा पर आरोप लगाते हुए कहा कि वो(छात्रा) मुझसे कई दिनों से पैसों की मांग कर रही थी और पैसे न देने पर अंजाम भुगतने की धमकी दे रही थी। आरोपी स्पोर्ट कोच सुनील शर्मा के अनुसार जब मैंने उस छात्रा को उसकी मांग अनुरूप पैसे नही दिए तो उसने मुझे व्हाट्सएप पर आपत्तिजनक चीजों को भेजना शुरू कर दिया जिससे घबराकर मैंने उसे 30000 रुपये नगद देकर और मामला खत्म करने का निवेदन किया। उसी बीच मुझे विभाग द्वारा खेलो इंडिया कार्यक्रम के लिए टीम लेकर बाहर जाना था और छात्रा का परफॉर्मेंस वहां सेलेक्ट होने के लिए काफी नही था तो मैंने उसे टीम के साथ ले जाने के लिए मना कर दिया इससे वह और ज्यादा नाराज होकर मुझे पुन: बदनाम करने की धमकी देने लगी लेकिन मैं टीम लेकर बाहर चला गया । जब वापस आया तो उसने मेरी शिकायत मुझे बदनाम करने के उद्देश्य से विश्वविद्यालय प्रशासन से कर दी और बोली कि अगर मुझे 1 लाख रुपये दे दोंगे तो मैं शिकायत वापिस कर लूंगी। आरोपी स्पेार्टस कोच सुनील शर्मा ने एबीवीपी पर भी आरोप लगाते हुए कहा कि छात्रा मुझे एबीवीपी के पदाधिकारियों के माध्यम से ब्लैकमेल करती थी और कहती थी कि अगर मुझे पैसे नही देगा तो मैं इन लोगों से तेरे और डायरेक्टर के खिलाफ प्रशासन पर दवाब बनवाकर तुझे नौकरी से निकलवा दूंगी। आरोपी स्पोर्ट कोच सुनील शर्मा ने अपनी बातों की पुष्टि के लिए छात्रा के अश्लील फोटोग्राफ़ और वो वीडियो भी सार्वजनिक किए हैं जो छात्रा द्वारा उसे भेजे ब्लैकमेल करने के लिए भेजे जाते थे।
ृंएबीवीपी व एनएसयूआई के बीच हुआ हंगामा
इस मामले को लेकर खिलाड़ी छात्रा के कुलपति के यहां पर ब्यान हो चुके हैं। उसके बाद किक्रेट कोच सुनील शर्मा के बयान होना थे लेकिन एबीवीपी व एनएसयूआई की बीच हंगामा होगया । एबीवीपी छात्रा के बचाव में खड़ी हो गई वह सुनील शर्मा को हटाने को लेकर अड़े हुए थे। वहीं एनएसयूआई इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराने के लिए अड़ी हुई थी। इसीबात को लेकर को लेकर मामले ने तूल पकउ़ लिया।
नेशनल स्तर पर ताईक्वांडो में चयन चाहती थी छात्रा
बताया जाता है कि किक्रेट कोच पर छेड़छाड़ व शोषण का आरोप लगाने वाली छात्रा ताईक्वांडो की खिलाड़ी है और वह चाहती थी कि सुनील शर्मा उसका चयन नेशनल स्तर पर खेलने के लिए करवा दें, जो कि उनके बस में नहीं था। उन्होंने मना कर दिया ।  इसी बात को लेकर धमकी देती रही कि आपको बदनाम कर दूंगी और आपके खिलाफ  पुलिस में शिकायत कर दूंगी। क्रिकेट कोच को छात्रा लगभग तीन माह से बदनाम करने की धमकी देकर ब्लेकमेल कर रही थी। 
ुसुनील शर्मा के बयान नहीं हो पाए 
छात्रा व क्रिकेट कोच के बयान गुरूवार कुलपति के समक्ष होना थे। छात्रा के बयान तो हो गये लेकिन सुनील शर्मा के बयान छात्रों के दोनों  सगठन एबीवीपी व एनएसयूआई के हंगामा  होने की वजह से नहीं हो पाए। अब उनके बयान आज  या दो एक दिन में लिए जाएंगे। इस मामले को लेकर पीडि़ता से संपर्क नहीं हो पाया है। 
पीएचडी को लेकर भी विवाद 
बताया जाता है कि कुछ दिन पहले बीयू में पीएचडी की परीक्षाएं आयोजित की गई थी जिसमें कोच के कहने पर सीसीटीवी केमरे लगाये गए थे जिससे पारदर्शिता बनी रहे। इस मामले मे कुछ परीक्षार्थी छात्र संगठन से जुड़े हुए थे। वह नहीं चाहते थे कि इस तरह की व्यवस्था की जाए। इसमें वह छात्र पीएचडी में शामिल थे जो कहीं से भी डिग्री हासिल नहीं कर सकते थे। इसी खुन्नस का नतीजा है जो यह मामला उइाया गया है।
इनका कहना है। 
अभी में इस मामले पर कोई बात नहीं कर सकता मीटिंग में हूं, बाद में बात करेंगे। 
आर जे राव, कुलपति
बरकतउल्ला विश्वविद्यालय भोपाल
 
मेरे पर नेशनल प्रतियोगिता में चयन के लिए दबाव डाल रहीं थी। मैरे हाथ में नहंीं था। मुझसे एक बार 30 हजार रूपये भी ले चुकी है। अब और मांग रही है। 
सुनील शर्मा, कोच किक्रेट
बरकतउल्ला विश्वविद्यालय भोपाल
 
हमें इस मामले की जानकाली मिली है वरिष्ठ अधिकारियेां से बात करेंगे। मामले की जांच उच्च स्तर पर करवायें।
विवेक त्रिपाठी, मीडिया प्रभारी
एनएसयूआई जिला भोपाल