ALL National World Madhy Pradesh Education / Employment Entertainment Sports Article Business
डॉ साने ने बताए आयुर्वेेद पंचकर्म से बीमारियों के छुटकारा पाने के तरीक
February 29, 2020 • Admin • Madhy Pradesh

आयुर्वेद को अपनाया और साध लिया बडी बिमारियों को 

रोटरी क्लब और माधवबाग का संयुक्त आयोजन 
भोपाल। राजधानी में पंचकर्म पद्वति से हृदय रोग , ब्लड प्रेषर   और षुगर के मरीजों को अभूतपूर्व फायदा हुआ है। आयुर्वेद पंचकर्म को अपनाकर इन बीमारियो से छुटकारा पाने वाले मरीजो के लिए विजयोत्सव कार्यक्रम आयोजित किया गया । जिसमें इन लोगों को गोल्ड मेडल देकर सम्मानित किया गया । इस मौके पर माधवबाग के डॉ रोहित साने ने पंचकर्म पर अपनी रिसर्च को प्रस्तुत किया ।

 

आर्युर्वेदिक पचंकर्म के बारे में जनजागृति फैलाने के लिए  रोटरी क्ल्ब्स और माधवबाग संस्थान द्वारा विजयोत्सव कार्यक्रम का आयोजन  समन्वय भवन भोपाल में किया गया । कार्यक्रम के दौरान बीमारी छुटकारा पाने वाले लोगों ने बीमारी के पहले और आज की स्थिती में जीवन में आए परिवर्तनों के बारे में लोगों को बताया । कार्यक्रम में आई रेहाना ने बताया कि पहले वो जरा सा चलने फिरने में हांफ जाती थी डॉक्टर ने एंजियोग्राफी की सलाह दी । रेहाना ने आयुेर्वेदिक पंचकर्म को अपनाया तो ने केवल उनका वजन कम हुआ बल्कि जो ष्षुगर लेवल हमेषा 350 रहता था वो 90 पर आ गया ।  भोपाल की ही ष्षोभा दुबे  ने बताया कि उन्होने साल भर तक आयुवेदिक पंचकर्म के साथ डाईट किट को फालों पर अपनी ष्षुगर लेवल में कर ली । पहले उनकी ष्षुगर 384 थी और अब 123 हो चुकी  है। वे कोई इंसुलिन भी नही ले रही है। इसी तरह अन्य मरीजों ने भी इस उपचार पद्वति से हृदय रोग , ब्लड प्रेषर जैसी अपनी बीमारी के ठीक होने के बारे में बताया । 

इस दौरान माधवबाग के एमडी डॉ रोहित साने , श्री योगेष वालवलकर , रोटरी क्लब डिस्ट्रीक्ट गर्वनर नामिनी (डिस्ट्रीक्ट 3040) कर्नल महेंद्र मिश्रा रेडियोलॉजिस्ट डॉ विषु विजयंत व डॉ राजेष मेहरा , मप्र आयुष विभाग की रजिस्ट्रार डॉ नीता सिंह , कॉर्डियोलाजिस्ट डॉ सुब्रतों मंडल , सामाजिक कार्यकर्ता सुश्री पुनम सिंह ने बीमारी को जीतने वाले इन लोगांे को गोल्ड मेडल देकर सम्मानित किया  । प्रारंभ में अतिथियों ने दीप जलाकर कार्यक्रम का ष्षुभारंभ किया । कार्यक्रम को संबोधित करते हुए  डॉ रोहित साने ने कहा कि इस कार्यक्र्रम का मकसद सैकडों साल पहले की उन उपचार पद्वतियों के बारे में लोगांे को बताया और इसके प्रति जनजागृति फैलाना है ।  दिल की बीमारी के ज्यादातर मामले अनियत्रित खान पान , पाष्चात्य जीवन ष्षैली के कारण होते है। लेकिन यदि पंचकर्म के साथ खान पान व जीवन ष्षैली पर नियत्रंण कर लिया जाए तो इन बीमारियों से बडी आसानी से बचा जा सकता है। इसी तरह ब्लड प्रेषर , ष्षुगर आदि बीमारियों में पंचकर्म काफी महत्वपूर्ण है। प्रारंभ में अतिथियों का स्वागत माधवबाग के रिजनल हेड डॉ प्रमोद चव्हाण , मेडिकल डायरेक्टर डॉ रंजीत नारंग  ने अतिथियांे का स्वागत किया । इस कार्यक्रम के दौरान बडी संख्या अन्य लोग भी मौजूद थे