ALL National World Madhy Pradesh Education / Employment Entertainment Sports Article Business
इस मंदिर के सामने से कोई डोली या अर्थी कभी पार नहीं हो पाती, जानिए क्‍यों?
February 24, 2020 • Admin • National

 रांची के समीपवर्ती खूंटी जिले के तोरपा में एक शिव मंदिर भक्‍तों के बीच अपनी पौराणिक मान्‍यताओं को लेकर खासा चर्चा में है। यहां विराजमान शिवलिंग भक्‍तों की रक्षा कवच की तरह करता है। तोरपा के इस प्राचीन शिव मंदिर के बारे में कहा जाता है कि मंदिर के सामने से आज तक कोई अर्थी या डोली नहीं गुजरी। ग्रामीणों का ऐसा मानना है कि कोई डोली या कोई अर्थी मंदिर के सामने से गुजरने पर संबंधित लोगों पर बड़ी विपत्ति आन पड़ती है।

इस इलाके में आदिवासियों को छोड़कर किसी अन्‍य जाति या उपजाति के घर-मकान भी नहीं हैं। गांव वाले इसे भी किसी अनहोनी से जोड़कर देखते हैं। हाल के दिनों तक खपरैलनुमा इस मंदिर का अभी जीर्णोद्धार कराया गया है। तोरपा के उकड़ीमाड़ी ग्राम पंचायत के ईचा लुदमकेल गांव का यह शिव मंदिर सैंकड़ों वर्ष पुराना बताया गया है।

कि आदिवासी छोड़कर दूसरी जाति के कई लोगों ने यहां घर बनाने की कोशिश की, लेकिन किसी कारणवश उनका मकान पूरा नहीं हो पाया। यहां शिव मंदिर की पूरी व्‍यवस्‍था आदिवासी ही संभालते हैं। भगवान शिव की विधि-विधान से नियमित पूजा-पाठ के लिए आदिवासियों ने अपने बीच से पुजारी भी बहाल कर रखा है।

साभार - जेएनएन