ALL National World Madhy Pradesh Education / Employment Entertainment Sports Article Business
ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने पर पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रभात झा नाराज, लंबे वक्त से BJP में साइडलाइन
March 11, 2020 • Admin • Madhy Pradesh

मध्य प्रदेश के युवा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया आज (11 मार्च) भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं। इससे एक दिन पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस पार्टी छोड़ दी थी और फिर 22 विधायकों ने विधानसभा से अपना इस्तीफा दे दिया था। ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस्तीफ के बाद राजनीति में हलचल मच गई है।

इसी बीच ये भी रिपोर्ट आ रही है कि बीजेपी के वरिष्ठ नेता प्रभात झा ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने पर पार्टी से नाराज हैं।हालांकि प्रभात झा ने इसके बारे में अपने अधिकारिक ट्विटर पर इसको लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

एबीपी न्यूज चैनल ने अपने रिपोर्ट में दावा किया कि मध्य प्रदेश बीजेपी के बड़े नेता प्रभात झा इस फैसले से नाराज हैं और उन्होंने इस बारे में केंद्रीय आलाकमान को भी अवगत करा दिया है। प्रभात झा बीजेपी में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के पद पर हैं। राजनाथ सिहं के अध्यक्ष रहते वक्त वह उनके राजनीतिक सलाहकार भी थे। काफी लंबे वक्त से प्रभात झा पार्टी में साइडलाइन चल रहे हैं। इसी वजह से पिछले कुछ वक्त में उनकी नाराजगी कई बार सामने आई है।

लोकसभा चुनाव-2019 में भी प्रभात झा को बीजेपी ने किया था नजरअंदाज

पिछले साल लोकसभा चुनाव-2019 के वक्त भी प्रभात झा चुनावी कैम्पेन से दूर रहे थे। उन्हें स्टार प्रचारक में भी शामिल नहीं किया गया था। लोकसभा चुनाव के बाद प्रभात झा ने ट्वीट कर कहा भी था कि किसी के सम्मान के साथ इतना खिलवाड़ नहीं करना चाहिए क्योंकि आपके साथ भी ऐसा हो सकता है। इस ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को टैग किया था।

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात के बाद कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया और उनके साथ ही 22 कांग्रेस विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था। इससे प्रदेश में कमलनाथ के नेतृत्व वाली 15 महीने पुरानी कांग्रेस सरकार गिरने के कगार पर पहुंच गई है। मंगलवार की सुबह जब देश होली मना रहा था, तभी सिंधिया ने भाजपा के वरिष्ठ नेता और गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। सिंधिया के कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस ने कहा है कि पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते सिंधिया को निष्कासित किया गया है।