ALL National World Madhy Pradesh Education / Employment Entertainment Sports Article Business
मध्य प्रदेश के जंगल में मगन होकर भजन सुनता है भालू परिवार
February 15, 2020 • Admin • Madhy Pradesh

शहडोल । मध्य प्रदेश के शहडोल जिले में घने जंगलों के बीच कुटिया बनाकर रहने वाले एक साधु के मधुर भजन का एक भालू परिवार इतना भक्त हो गया है कि वह चुपचाप भजन सुनता है और अंत में प्रसाद लेकर वापस जंगल में चला जाता है। मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की सीमा में जैतपुर वन परिक्षेत्र के अंतर्गत खड़ाखोह के जंगल में सोन नदी के समीप राजमाड़ा में सीताराम साधु 2003 से कुटिया बनाकर रह रहे हैं। साधु ने बताया कि जंगल में कुटिया बनाने के बाद उन्होंने वहां प्रतिदिन रामधुन के साथ ही पूजा-पाठ शुरू किया। एक दिन उन्होंने देखा कि दो भालू उनके पास बैठे हुए हैं और खामोशी से भजन सुन रहे हैं।
सीताराम ने बताया कि उस दिन से भजन के दौरान भालुओं के आने का जो सिलसिला शुरू हुआ तो वह आज तक जारी है। सीताराम का भालुओं से अपनापन इस तरह का हो गया है कि उन्होंने उनका नामकरण भी कर दिया है। उन्होंने बताया कि नर भालू को ‘लाला’ और मादा को ‘लल्ली’ के साथ ही शावकों को ‘चुन्नू’ और ‘मुन्नू’ नाम दिया है। वन विभाग के जेतपुर परिक्षेत्र के रेंजर सलीम खान ने भी भालुओं के वहां आने पुष्टि की है।