ALL National World Madhy Pradesh Education / Employment Entertainment Sports Article Business
मध्य प्रदेश पुलिस का अमानवीय चेहरा,मंदिर में पूजा कर रहे पुजारी को डंडो से पीटा
April 3, 2020 • Admin • Madhy Pradesh

रीवा । मध्य प्रदेश के रीवा जिले की पद्मधर कॉलोनी स्थित देवी  मंदिर के पुजारी के साथ पुलिस द्वारा बेरहमी से मारपीट का मामला सामने आया है। दरअसल  एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक पुलिसकर्मी पुजारी की पिटाई करता दिखाई दे रहा है। और   मंदिर में घुसकर पुलिस ने पूजन सामग्री को तहस-नहस कर दिया और पुजारी की बेरहमी से पिटाई कर दी। प्राप्त जानकारी के अनुसार रामनवमी के चलते शयन आरती के लिए पुजारी वहां मौजूद थे तभी पास के ही मोहल्ले से कुछ लोग वहां पूजा करने पहुंच गए। भीड़ एकत्रित होने की सूचना पुलिस को मिल गई जिसके बाद थाना प्रभारी सिविल लाइन अपने पुलिस बल के साथ मंदिर पहुंच गए और मंदिर के पुजारी की बेरहमी से पिटाई कर दी। 

क्या है मामला

बता दें कि तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस की वजह से देशभर में लॉकडाउन के साथ साथ जिले में धारा 144 लागू कर दी गई थी। साथ ही जिला प्रशासन द्वारा मस्जिद मंदिर सहित किसी भी स्थान में भीड़ एकत्रित न होने के सख्त निर्देश जारी किए गए थे। ऐसे में में नवरात्री के चलते रीवा के पद्मधर कालोनी स्थित मां काली के मदिर में वहां के पुजारी उपेंद्र कुमार पाण्डेय संध्या आरती की तैयारी में जुटे हुए थे। तभी पास के ही दूसरे मोहल्ले के लोग पूजा अर्चना करने मंदिर पहुंच गए।जिसकी सूचना पुलिस को मिली और मौके पर भारी पुलिस बल पहुंच गया। पुलिस ने पूजा कर रहे लोगों को वहां से खदेड़ दिया। इसके बाद थाना प्रभारी ने वहां मौजूद पुजारी की डंडे बरसाते हुए बेरहमी से पिटाई कर दी और मंदिर में रखा पूजा का सामान बिखेर दिया।  मारपीट की जिसकी वजह से पुजारी के शरीर में गंभीर घाव हो गए।
 इस मामले में सिविल लाइन थाना प्रभारी राजकुमार मिश्रा का कहना है कि मौके पर पहुंचकर सभी को खदेड़ दिया गया। पुजारी को मंदिर में फिर से भीड़ नहीं एकत्रित करने की हिदायत दी गई है।


कांग्रेस ने उठाए सवाल


इस घटना के बाद मध्यप्रदेश कांग्रेस ने शिवराज सरकार पर सवाल उठाए हैं। कांग्रेस ने कहा- शिवराज जी, रामनवमी के दिन एक अकेले पंडित पर हमला करवाकर आपकी सरकार कौन सा संदेश देना चाहती है? जब सरकार पूजा की थाली, मंदिर का कलश, आरती का दिया और भगवान के फूल पर डंडा चलाने लगे तो समझ लो कि सरकार और शासक का अस्त नज़दीक है। शिवराज जी, ये अहंकार जनता बर्दाश्त नहीं करेगी। रीवा से कांग्रेस नेता सिद्धार्थ तिवारी ने कहा- शिवराज जी आप इतना भी ताक़त के मद में मत रहिए की ईश्वर के सेवकों के साथ ऐसा अमानवीय व्यवहार करें।

वहीं यह मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है जिसको लेकर बीजेपी के नेताओं की प्रतिक्रिया भी आनी शुरू हो गई है।पूर्व नेता प्रतिपक्ष व वर्तमान भाजपा विधायक गोपाल भार्गव सहित कई बीजेपी नेताओं ने ट्वीट कर पुजारी की हुई बेरहमी से पिटाई की निंदा की है।

रीवा विधायक और मध्यप्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने इस संबंध में पुलिस के आला अधिकारियों से बात की है। पुलिस द्वारा पिटाई का मामला मध्यप्रदेश के डीजीपी तक पहुंच गया है। बुधवार को पुलिस द्वारा किए गए बर्ताव पर गुरुवार को लोगों ने विरोध किया।

मामले की जांच को संज्ञान में लेते हुए रीवा रेंज के आईजी चंचल शेखर द्वारा सिविल लाइन थाना प्रभारी राजकुमार मिश्रा को लाइन अटैच कर दिया गया है जिसके बाद मामले की जांच की जा रही है।