ALL National World Madhy Pradesh Education / Employment Entertainment Sports Article Business
मध्य प्रदेश तेज रफ्तार से बढ़ रहा COVID-19 का संक्रमण, प्रदेश में अब तक कुल 26 केस
March 27, 2020 • Admin • Madhy Pradesh

भोपाल: मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. मध्य प्रदेश के इंदौर में कोरोना के अब तक सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं. गुरुवार रात इंदौर में कोरोना वायरस संक्रमण के 5 नए मामले सामने आए. इस तरह पिछले तीन दिनों में इंदौर में 15 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिल चुके हैं. गुरुवार को आई रिपोर्ट में 14 और 18 साल की दो लड़कियां भी कोरोना संक्रमित पाई गईं.

मध्य प्रदेश में अब तक 26 पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं
इस तरह मध्य प्रदेश में कोरोना के अब तक कुल 26 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं. इंदौर के अलावा जबलपुर, भोपाल और उज्जैन में कोरोना का संक्रमण पहुंच चुका है. मध्य प्रदेश में कोरोना के चलते अब तक दो लोगों की मोत हुई है. मरने वालों में उज्जैन निवासी 65 वर्षीय महिला और इंदौर के रहने वाले 65 वर्षीय बुजुर्ग शामिल हैं. इंदौर में कोरोना का संक्रमण 300% की रफ्तार से बढ़ रहा है.

इंदौर प्रशासन ने प्रभावित इलाकों को कैंटोनमेंट घोषित किया
इंदौर प्रशासन ने शहर के उन इलाकों को कैंटोनमेंट (निषेध) एरिया घोषित कर दिया है जहां कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं. कैंटोनमेंट (निषेध) एरिया मरीजों के घर से चारों तरफ 3 किमी तक का क्षेत्र होगा. इस परिधि में आने वाले किसी भी व्यक्ति को बाहर आने-जाने नहीं दिया जाएगा. एक अनुमान के मुताबिक इंदौर के जिन इलाकों को कैंटोनमेंट एरिया घोषित किया गया है, उनमें 8 हजार से ज्यादा लोग होम क्वारेंटाइन हो गए हैं.

बिना किसी ट्रैवल हिस्ट्री वालों को कोरोना वायरस का संक्रमण
सीएचएल में भर्ती रानीपुरा निवासी 41 वर्षीय पुरुष मरीज की कोई विदेश ट्रैवल हिस्ट्री नहीं मिली है. बॉम्बे हॉस्पिटल में भर्ती लिम्बोदी निवासी 53 वर्षीय पुरुष मरीज की भी कोई विदेश ट्रैवल हिस्ट्री नहीं मिली है. इन दोनों की किसी कोरोना संक्रमित मरीज से संपर्क में आने की भी जानकारी नहीं मिल सकी है. एमवायएच में भर्ती 14 वर्षीय और 18 वर्षीय लड़कियों की भी विदेश जाने या किसी संक्रमित मरीज के संपर्क में आने की कोई हिस्ट्री नहीं मिली है. इस तरह के केस सामने आने के बाद मध्य प्रदेश स्वास्थ्य विभाग के होश उड़ गए हैं. यह कम्युनिटी ट्रांसफर का मामला माना जा रही है.

270 की जांच की गई, 22 के कोरोन संक्रमित होने की आशंका

गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग ने एमआर टीबी अस्पताल से 15, सीएचएल से 2, एमवायएच से 3, अरिहंत अस्पताल से 1, गोकुलदास अस्पताल से 2, बॉम्बे हॉस्पिटल से 1, अरबिंदो मेडिकल कॉलेज से 8, देवास से 5, धार से एक और उज्जैन से आए 12 सैंपल जांच के लिए भेजे. गुरुवार को एमआर टीबी अस्पताल में 270 सर्दी-जुकाम पीड़ित मरीजों की जांच की गई. इनमें से 22 मरीजों में कोरोना के संक्रमण की आंशका है. 11 मरीजों को होम आइसोलेशन में भेजा गया है.

29 मरीजों के सैंपल में से 23 नेगेटिव और 5 पॉजिटिव केस मिले
गुरुवार को एमजीएम मेडिकल कॉलेज की लैब में 29 मरीजों के सैंपल की जांच की गई, इसमें से 23 निगेटिव निकले. छह में से एक मरीज का सैंपल फिर से जांच के लिए भेजा जा रहा है, जबकि पांच पॉजिटिव निकले. उज्जैन निवासी 42 वर्षीय पुरुष मरीज का इलाज एमआरटीबी अस्पताल में चल रहा है. उज्जैन की जिस बुजुर्ग महिला की कोरोना वायरस संक्रमण के चलते मौत हुई, यह व्यक्ति उसके करीबी रिश्तेदार हैं.

 

साभार - जी न्यूज