ALL National World Madhy Pradesh Education / Employment Entertainment Sports Article Business
सरकार की शह पर गुंडागर्दी पर उतर आएं है अधिकारी : गोपाल भार्गव
January 21, 2020 • Admin • Madhy Pradesh

ब्यावरा में अधिकारियों ने कानून हाथ मे लेकर लोकत्रांतिक तरीके से रैली निकाल रहे भाजपा कार्यकर्ताओ ओर जनता को बेरहमी से पीटा है। इससे लगता है कि सरकारी कर्मचारी सेवक नही बल्कि सरकार के गुलाम होकर काम कर रहे है। जिस जनता की गाढ़ी कमाई से जिन अधिकारियों को वेतन मिलता है, वही अधिकारी अब जनता को मारने पर तुले है। अधिकारी सरकार के इशारे पर जिस तरीके से गुंडागर्दी करने पर उतर आए है, इसका परिणाम उन्हें भुगतना होगा। यह बात नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने राजगढ़ के ब्यावरा में सीएए समर्थन रैली में नागरिकों पर प्रशासन द्वारा लाठी चार्ज किये जाने की घटना की निंदा करते हुए कही। नेता प्रतिपक्ष भार्गव ने मुख्यमंत्री कमलनाथ से दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की है।
उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में प्रदेश की जनता अलग-अलग जिलों में समर्थन रैलियां आयोजित कर रही है, लेकिन प्रशासन सरकार के दबाव में अनुमति न देकर भाजपा जनप्रतिनिधियों और आम नागरिकों पर लाठीचार्ज कर सीएए के समर्थन की आवाज को दबाने का काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार को यह समझना चाहिए कि सीएए अब कानून के रूप में संविधान का अंग बन चुका है। सरकार इसको मध्यप्रदेश में लागू न करने की बात कर संविधान का अपमान कर रही है।
नेता प्रतिपक्ष श्री भार्गव ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा लोकतांत्रिक व्यवस्थाओं का दमन किया है। कांग्रेस का आपातकाल लगाने का काला इतिहास रहा है। आज प्रदेश में भी जनता की आवाज दबाने का काम हो रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री स्वयं जब सीएए के विरोध में सड़कों पर उतरते है, जनसभा करते है तब कोई केस दर्ज नही होता लेकिन आज पूरे प्रदेश में हजारों की संख्या में आम नागरिक सीएए के समर्थन में रैली निकालते है तो उन पर लाठी चार्ज कर दिया जाता है। यह सरकार प्रदेश को पश्चिम बंगाल बना देना चाहती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार प्रदेश में आपातकाल को दोहराने का काम कर रही है। जनता इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेगी।