ALL National World Madhy Pradesh Education / Employment Entertainment Sports Article Business
यह सरकार कथन की नहीं, वचन की सरकार है - मंत्री सचिन यादव
February 23, 2020 • Admin • Madhy Pradesh

किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री सचिन यादव ने आज धार जिले के बदनावर कृषि उपज मंडी प्रांगण में जय किसान फसल ऋण माफी योजना के द्वितीय चरण में लाभार्थियों को ऋण माफी प्रमाण पत्र, किसान सम्मान पत्र प्रदान किये तथा हितग्राहियों को अनुदान राशि प्रमाण पत्र व तीन ट्रैक्टर, एक हार्वेस्टर और एक रोटावेटर मशीन देकर लाभान्वित किया। कार्यक्रम में बताया गया कि योजना के द्वितीय चरण में बदनावर तहसील के चार हजार 389 किसानों को 31 करोड़ 29 लाख रूपए की राशि का हस्तांतरण आरटीजीएस के माध्यम से किया जा रहा है। योजना के प्रथम चरण में तहसील बदनावर के आठ हजार 473 किसानों को 32 करोड़ 83 लाख रूपए की राशि का हस्तांतरण आरटीजीएस के माध्यम से किया गया था। अतिथियों का स्वागत साफा बांध, शाल व पुष्पगुच्छ प्रदान कर किया गया।

कृषि मंत्री ने कहा कि किसानों के द्वारा रासायनिक खाद और उर्वरक के अधिक प्रयोग से उत्पादन में थोड़ी वृद्धि तो हुई है लेकिन उसके साथ यह अन्न खाकर कई प्रकार की बीमारियां उन्हें और उनके परिजनों को हो रही है। उन्होंने कहा कि बदनावर के किसान प्रगतिशील किसान है। वे जैविक खेती को अपनाएं। फसलों की सभी बीमारी का इलाज गौमाता के पास है। जैविक खेती के लिए कृषि विभाग के माध्यम से किसानों को प्रशिक्षित किया जाएगा। रासायनिक उर्वरक ओर कीटनाशक के प्रयोग से उत्पादित अन्न में 70 प्रतिशत तक हानिकारक केमिकल पाया जाता है ,ऐसा एक स्टडी में बताया गया है इसलिए खाने वाले को गंभीर बीमारी की आशंका बनी रहती है।

श्री यादव ने बताया कि किसान आंदोलन के दौरान किसानों पर दर्ज केस वापस लेने के लिए कलेक्टर की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया गया है। किसान उस कमेटी को आवेदन दें। शीघ्र ही प्रकरण वापसी का सिलसिला भी होगा। मुख्यमंत्री स्वयं इस पर नजर बनाए हुए है। वन्य प्राणियों के द्वारा फसल के नुकसान के सिलसिले में मंत्री श्री यादव ने कहा कि क्योंकि यह मामला वन प्राणी संरक्षण अधिनियम के तहत आता है। इसके लिए भी एक कमेटी बनी है और जल्दी ही इसका कुछ कारगर हल निकाला जाएगा। विधायक श्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव द्वारा जो भी मांग की गई है उनकी पूर्ति के लिए सकारात्मक प्रयास किए जाएंगे।